My Daily Strength

अन्धेर से मुक्ति -- डॉ. जे सैमुएल सुधाकर

आज के लिए अनुच्छेद : 'मुझे मनुष्यों के अन्धेर से छुड़ा ले; तब मैं तेरे उपदेशों को मानूँगा' भजन 119:134

शैतान लोगों का इस्तेमाल करता है परमेश्वर के वंश पर अत्याचार करने। शैतान जानता है कि जब परमेश्वर के बच्चों पर अत्याचार किया जाता है तो वे परमेश्वर पर अपना विश्वास खोना शुरू करते हैं। शैतान लोगों के द्वारा कठिनाइयों और दुख लाता है उनके कार्यक्षेत्र में या घर में या जहां कहीं भी परमेश्वर का वंश है । उनसे अन्याय किया जाता है। जो पुरुष शैतान की बात सुनते हैं, वे परमेश्वर के लोगों के साथ कठोर व्यवहार करते हैं और उन पर भारी बोझ डालते हैं जो उन्हें मानसिक और शारीरिक रूप से प्रभावित करता हैं परेशानी और प्रतिकूल परिस्थितियों मे। भजनकार लगातार मनुष्य के उत्पीड़न से बचा जाने की प्रार्थना करता है ताकि वह परमेश्वर की आज्ञाओं को मानें। मिस्र के लोगों के द्वारा इस्राएल के लोग बहुत ही अत्याचार सह रहे थे, जो उन्हें परेशान और कड़वा बना दिया। इसलिए, जब मूसा ने परमेश्वर के बारे में बात की तो इस्राएल तुरंत उसे स्वीकार नहीं कर सका। उन्होंने पूछा, अब्राहम का परमेश्वर कँहा है और क्यों उन्हें इतना नुकसान उठाना पड़ा।

परमेश्वर के प्रिय सन्तान , क्या आप ऊपर बताए गए अनुभवों के माध्यम से जा रहे हैं जिन्हें आपने पढ़ा है? क्या आपका जीवन कड़वाहट से भरा है और क्या आप परेशान हैं? अभी यहोवा को देखो और उसकी कृपा और दया के लिए उससे पूछो। परमेश्वर आपको दुष्ट लोगों के हाथों से बचाएगा जो परमेश्वर के बच्चों को पीड़ा देने के उद्देश्य से बुरे विचारों का इस्तेमाल करते हैं।

आज के दिन, यहोवा की ओर देंखे और यीशु मसीह के लहू से ढंकें। केवल उसका लहू आपको उत्पीड़न की भावना से बचा सकता है। परमेश्वर की उपस्थिति मे आओ जो प्रेम और करुणा से भरा है और याद रखे कि यीशु आपके लिए आए थे और उसका लहू बहाया। यहां तक कि जब आप इसे पढ़ते हैं, तब भी आप परमेश्वर के आत्मा को अन्धेर की भावना से छुड़ा लेंगे।

प्रार्थना : मुझे दंड की भावना से मुक्ति दिलाने के लिए धन्यवाद, यहोवा। आमीन।


विचार : यीशु का लहू हर उत्पीड़न से मुक्ति प्रदान करता है।


Copyright © My Daily Strength